Friday, August 1, 2008

Farq Sirf Itna Sa Tha - Emotional Hindi Kavita, Shayari

 
Teri doli uthi,
Meri mayyat uthi,
Phool tujh par bhi barse,
Phool mujh par bhi barse,


FARQ SIRF ITNA SA THA,

Tu saj gayi,
Mujhe sajaya gaya ,
Tu bhi ghar ko chali,
Main bi ghar ko chala,


FARQ SIRF ITNA SA THA,


Tu uth ke gayi,
Mujhe uthaya gaya ,
Mehfil wahan bhi thi,
Log yahan bhi the,


FARQ SIRF ITNA SA THA,

Unka hasna wahan,
Inka rona yahan,
Qazi udhar bhi tha, Molvi idhar bhi tha,

Do bol tere pade, Do bol mere pade,
Tera nikah pada, Mera janaaza pada,

FARQ SIRF ITNA SA THA,


Tujhe apnaya gaya ,
Mujhe dafnaya gaya
 
 

14 comments:

mohan said...

Nice Post. You may like to post it at diggsamachar and votedlinks
for greater coverage

Anonymous said...

katl kar diya miyan, kya baat hai! suhaanallah.

Salim said...

please visit the site of Kavi DEEPAK SHARMA for the real poetry.What you will gate out of this.Attaching his poem 4 u
Talkh Roshan

ना जाने क्यों तेरी आवाज़ सुकुन देती है बहुत
और तेरे ख्याल से ही दिल हो शाबाद जाता है
जब भी सोचता हूँ अकेला जिंदगी की बाबत
चेहरा तेरा मुस्कुराता नजर के सामने आता है

मुझे मालूम नहीं क्या तेरा मेरा रिश्ता है क्योंकर
तेरी आवाज़ जिस्म से रूह तक उतरती जाती है
क्यों तेरी बातें मुझे अपनी -अपनी सी लगती हैं
क्यों तेरे तसव्वुर से नब्ज मेरी डूबती सी जाती है

आख़िर क्यों मेरे अहसास मेरा साथ नहीं देते
और क्यों मेरे जज्बात मेरे होकर भी नहीं मेरे
क्यों मेरा मन हर लम्हा याद करता है तुझको
क्यों मुझे घेरे रहते हैं तेरी चाहतों के घेरे

मेरी जान ! मुझे इसका सबब तो नहीं मालूम
ग़र इल्म हो तुझको तो मुझे भी इत्तला करना
मेरी उम्मीदों को शायद यकीन मिल जाये
अंधेरों में हूँ तन्हा , जिंदगी को उजला करना

surabhi said...

really nice work

knkayastha said...

Nice emotions. Hindi, teri jay ho.

Anonymous said...

nice one really

viagra online said...

Excellent post dear blogger , and to be honest with you, I've never seen something like that before,so I will be a regular visitor to learn this strange language. 23jj

vivek Gupta said...

hindi,language,moti,pearls,words,poetry,poem,poet,india,lalit,kumar,Kavita, Kosh, Sahitya Sangrah, Kavi, Kavya, Sahitya, Bachchan, Nirala, Niraj, Verma, Prasad, Dinkar,Tulsidas, Gulzar, Tiwari, Chaturvedi, Pant, Malviya, Bharat, India, Language,Bhasha, mahadevi, bachchan, harivansh, sumitranandan, ramdhari, singh, amir khusro, ghalib, faiz, vajpayee, narendra sharma

sahitya sangrah said...

साहित्य संग्रह भारतीय साहित्य का इंटरनेट पर उपलब्ध सबसे बड़ा और सुव्यवस्थित संग्रह है। इसमें हिन्दी के अलावा और भी बहुत-सी भारतीय भाषाओं व बोलियों में रचा गया गद्य और पद्य उपलब्ध है। यह वेबसाइट देवनागरी यूनिकोड फ़ॉन्ट का प्रयोग करती है,

साहित्य के इस संग्रह में आप भी अपना योगदान दे सकते है
sahitya sangrah

Anonymous said...

niceyar. keep on

Anonymous said...

Nice bro i am speachless

jokesfb said...

ਕਾਰ ਵਿੱਚ ਵੱਜ ਕੇ

ਬੇਹੋਸ ਹੋ ਜਾਂਦਾ

ਕਾਰ ਵਾਲਾ ਚੱਕ ਕੇ ਉਸ ਨੂੰ

ਘਰ ਲੈ ਆਉਦਾ


ਤੇ
ਪਿੰਜਰੇ ਵਿੱਚ ਰੱਖ ਕੇ ਦਾਣੇ
ਪਾ ਦਿੰਦਾ ਹੈ
ਦੋ ਘੰਟਿਆ ਬਾਅਦ
ਜਦ ਕਬੂਤਰ ਨੂੰ
ਹੋਸ ਆਉਦੀ ਹੈ ਤਾਂ
ਅਪਣੇ ਆਪ ਨੂੰ ਪਿੰਜਰੇ ਚ
ਦੇਖ ਕੇ ਕਹਿੰਦਾ

.
.
ਜੇਲ ????

ਉਹ ਤੇਰੀ ਨੂੰ
ਲੱਗਦਾ ਡਰਾਵਿਰ ਮਰ ਗਿਆ,......

Anonymous said...

buy xanax bars online buy xanax online legit - generic xanax bars white

Anonymous said...

realy nice